इतिहास

हेसलपीरी पंचायत बुढ़मु प्रखण्ड के उत्तर पुर्वी भाग 8 कि0 मी0 दूर स्थित है। इस प्रखण्ड के पूर्वी छोर में कांके प्रखण्ड के सीमा से लगी डूबी पंचायत है। इसके पुरब में कांके प्रखण्ड, पच्च्चिम में बाड़े पंचायत, दछिण में खखरा पंचायत तथा उत्तर में चौकाड़ा पंचायत है। इस पंचायत की कुल आबादी लगभग 8000 है। यह पंचायत प्रमुख रुप से कृद्गाी बहुल क्षेत्र के रुप में प्रसिद्ध है। जीविकोर्पाजन का मुखय साधन साक द्राब्जी की खेती है।यहॉं एक नदी बहती है जिसका उपयोग सिंचाई के लिए किया जाता है। कुछ लोग मजदुरी भी करते हैं तथा कुछ लोग नौकरी भी करते हैं। यहां अधिकांच्चतः अच्चिक्षित लोग हैं।यहां जंगल भी बहुत हैं जिनमें नक्सलियों का आतंक हमेसा छाया रहता है। यहां तीन प्राथमिक विद्यालय, एक मध्य एवं एक उच्च विद्यालय है जिसका नाम है – रामटहल चौधरी उच्च विद्यालय (तुरमुली)। यहां च्चिक्षा का स्तर 40 प्रतिच्चत है।